Print this page

देश की प्रगति पूरी गति से जारी रहनी चाहिएः वरिष्ठ नेता

Rate this item
(0 votes)
देश की प्रगति पूरी गति से जारी रहनी चाहिएः वरिष्ठ नेता

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई ने बल दिया है कि एक राष्ट्र और एक देश की वैज्ञानिक प्रगति के साथ क्रांतिकारी और उच्च अध्यात्मिक उमंगे, क्षेत्र, इस्लामी जगत और दुनिया के लिए आदर्श बनने की भूमिका प्रशस्त करेंगी।

वरिष्ठ नेता से सोमवार को शरीफ़ पाॅलिटेक्निक कालेज के मेधावी और पदक प्राप्त करने वाले छात्रों ने मुलाक़ात की। इस मुलाक़ात में वरिष्ठ नेता ने कहा कि भौतिक क्षेत्र में पश्चिम की भारी प्रगति के बावजूद, पश्चिमी सभ्यता के वर्तमान आधारों की कमज़ोरी, कमियों और मतभेदों का कारण, ईश्वरीय व अध्यात्मिक उमंगों का न होना है।

उन्होंने कहा कि अमरीका के कुछ विचारकों और बुद्धिजीवियों ने स्पष्ट रूप से पश्चिमी समाजों विशेषकर अमरीका में विभिन्न प्रकार की वैचारिक, वैज्ञानिक और शिष्टाचारिक पथभ्रष्टताओं, पारिवारिक आधारों के धराशायी होने, हिंसाओं में दिन प्रतिदिन की वृद्धि, नैतिक भ्रष्टाचार और आत्महत्याओं की बात स्वीकार की है।

उन्होंने अमरीकी समाज में बढ़ती हिंसाओं और हथियारों से लोगों के जनसंहार की ओर संकेत करते हुए कहा कि अमरीका में शस्त्रों के प्रचलन और लोगों को मौत के घाट उतार देना, एक गंभीर समस्या में परिवर्तित हो गया है और इसका उपचार, लोगों के मध्य हथियारों के प्रयोग को रोकना है किन्तु अमरीका में शस्त्र निर्माण कंपनियों के माफ़िया के वर्चस्व के कारण इस देश के सत्ताधारी लोगों में शस्त्रों के प्रयोग को ग़ैर क़ानूनी करने का साहस नहीं है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रतिरोधक अर्थव्यवस्था से कैसे लाभ उठाया जाए यह देशों के लक्ष्यों पर निर्भर है। उनका कहना था कि यह विषय कि प्रतिरोधक अर्थ व्यवस्था विश्व शक्तियों के मुक़ाबले में चाहे वह बुरा चाहने वाली हों या बुरा चाहने वाली न हों, ईरान की रक्षा करेगी और यह एक अटल सच्चाई है।

वरिष्ठ नेता ने कहा कि पिछले ढेड़ सौ वर्ष के दौरान अमरीका की वैज्ञानिक और औद्योगिक प्रगति का कारण प्रतिरोधक अर्थव्यवस्था से लाभ उठाना था। उनका कहना था कि अलबत्ता अमरीकियों ने इस विचार को भौतिक लाभ और पैसे जमा करने के लिए प्रयोग किया किन्तु विश्व स्तर पर स्वीकृत इसी अनुभव से लाभ उठाते हुए सर्वेच्च लक्ष्य प्राप्त किए जा सकते हैं।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने इसी प्रकार बल दिया कि ईरान में वैज्ञानिक प्रगति और वैज्ञानिक प्रयासों को कभी भी सुस्त नहीं होना चाहिए या कभी भी नहीं रुकना चाहिए बल्कि पूरी तेज़ी के साथ जारी रहना चाहिए।

 

Read 186 times