ईरानी जनता के मध्य मौजूद समरसता अद्वितीय है

Rate this item
(0 votes)
ईरानी जनता के मध्य मौजूद समरसता अद्वितीय है

ईरान के इस्फ़हान और दक्षिण में वरिष्ठतम ईसाई धर्मगुरू ने कहा है कि आसमानी धर्म के मानने वाले ईरान विशेषकर इस्फहान में शांतिपूर्ण जीवन व्यतीत कर रहे हैं और ईरानी लोगों के मध्य जो समरसता मौजूद है वह अद्वितीय है।

बाबकन चारियान ने सोमवार को इस्फहान के मेयर से भेंट में इस बयान के साथ कि ईरानी अधिकारियों और लोगों के मध्य रचनात्मक सहकारिता मौजूद है,कहा कि ईरान में अपनी सक्रियता के दौरान हमने ईरानी अधिकारियों के प्रेम व कृपा का आभास किया और प्रेम और ईरानियों की दोस्ती को अपने साथ उपहार स्वरुप ले जाऊंगा।

उन्होंने स्पष्ट किया कि ईरानी अधिकारियों की सहायता और समर्थन ने हमारे कार्यों को बहुत सरल कर दिया था इस आधार पर मैं वचन देता हूं कि मैं जहां भी सेवा करूंगा वहां ईरान का ग़ैर आधिकारिक प्रतिनिधि रहूंगा। उन्होंने कहा कि मैं इस बात से आश्वस्त हूं कि जिसे भी मेरे स्थान पर इस्फहान और ईरान में दक्षिण में ईसाईयों के वरिष्ठतम धर्मगुरू के रूप में चुना जायेगा वह उसी रास्ते पर चलेगा जिसका चयन मैंने किया था क्योंकि मूल उद्देश्य एकता की सुरक्षा है।

उन्होंने राष्ट्रीय एकता के जारी रहने और ईरान की संप्रभुता की रक्षा के लिए दुआ की और कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि ईरान दिन प्रतिदिन उन्नति करेगा और आतंकवाद से मुकाबले और क्षेत्र में शांति की सुरक्षा में उसका दायित्व अधिक होगा। 12 वर्ष पूर्व ईरान के इस्फहान और दक्षिण में ईसाईयों के वरिष्ठतम धर्मगुरू के रूप में बाबकन चारियान को नियुक्त किया गया था और 11 मई को उनका कार्यकाल समाप्त हो हो रहा है।  

Read 1169 times