चीन के मीज़ाइल ने अमरीका की नींदें उड़ा दी

Rate this item
(0 votes)
चीन के मीज़ाइल ने अमरीका की नींदें उड़ा दी

अमरीकी कांग्रेस के एक आयोग ने सचेत किया है कि चीन अपने नये मीज़इल सिस्टम से प्रशांत क्षेत्र में मौजूद गुआम सैन्‍य ठिकाने को ध्वस्त कर सकता है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका-चीन आर्थिक एवं सुरक्षा समीक्षा आयोग ने इस सप्ताह जारी रिपोर्ट में डीएफ़-26 बैलेस्टिक मिसाइल के खतरों को लेकर सचेत किया। आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि चीन की डीएफ़-26 मिसाइल से बीजिंग बहुत सशक्त हो गया है और अमेरिका के कई स्थान उसकी मारक क्षमता में आते हैं। इस मीज़ाइल की मारक क्षमता 5,500 किलोमीटर है। बीजिंग ने इस मीज़ाइल को पिछले वर्ष सितंबर में सैन्य शक्ति के प्रदर्शन के दौरान दुनिया के सामने पहली बार पेश किया था।

अमरीकी रक्षामंत्रालय ने चीन की सैन्य गतिविधियों पर अपनी वार्षिक रिपोर्ट कांग्रेस में पेश किया जिसमें चीन की बढ़ती शक्ति पर चिंता व्यक्त की गयी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने दक्षिणी चीन सागर में 3200 एकड़ जमीन पर फिर से कब्‍जा कर लिया है। चीन के रक्षामंत्रालय ने अमरीका की इस रिपोर्ट का कड़ाई से खंडन किया है।

ज्ञात रहे कि चीन के अतिरिक्त दक्षिण-पूर्वी एशिया के कई देश ताइवान, फ़िलीपींस, वियतनाम और मलेशिया भी इस क्षेत्र पर अपना अपना दावा करते हैं। दक्षिणी चीन सागर के बारे में कहा जा है कि यहां तेल और गैस के बड़े भंडार हैं। अमेरिका अनुसार, इस क्षेत्र में 213 अरब बैरल तेल और 900 ट्रिलियन घनमीटर प्राकृतिक गैस का भंडार है।   

Read 1165 times