दाइश को ईरान को हराने के लिए बनाया गया, वरिष्ठ नेता

Rate this item
(0 votes)
दाइश को ईरान को हराने के लिए बनाया गया, वरिष्ठ नेता

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने शनिवार की शाम सन 1981 में तेहरान में आतंकवादी हमले में शहीद होने वालों और सीरिया में हज़रत ज़ैनब के रौज़े की सुरक्षा के दौरान अपनी जान देने वालों के परिजनों से भेंट की।

वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई ने बल दिया कि आतंकवादी गुट दाइश को इस्लामी गणतंत्र ईरान को पराजित करने के लिए बनाया गया, इराक़ और सीरिया ईरान को पटखनी देने की तैयारी थी लेकिन ईरान की ताक़त ने उन्हें ही पटखनी दे दी।

वरिष्ठ नेता ने इस भेंट में कहा कि वास्तव में ईरान के साथ असमान युद्ध में दुश्मन यह समझ ही नहीं पाते कि अल्लाह और उसकी राह में संघर्ष में ईमान में कितनी शक्ति है।

वरिष्ठ नेता ने कहा कि जो पैगम्बरे इस्लाम (स) के परिजनों के लिए आगे क़दम बढ़ाता है वह वास्तव में अपने समाज और अपने नगर की रक्षा करता है और यह संघर्ष वास्तव में ईरान की रक्षा के लिए है।

 

वरिष्ठ नेता ने कहा कि बहरैन में अत्याचारी व स्वार्थी अल्पसंख्यक, बहुसंख्यकों पर अत्याचार कर रहे हैं और अब तो उन्होंने ने वरिष्ठ धर्मगुरु शैख ईसा क़ासिम को भी निशाना बनाया है यह वास्तव में मूर्खता है।

 

वरिष्ठ नेता ने कहा कि शैख ईसा क़ासिम हमेशा हिंसा व अतिवाद से रोका करते थे किंतु बहरैन के इन मूर्ख शासकों को यह नहीं समझ में आ रहा है कि शैख ईसा क़ासिम को रास्ते से हटाने का मतलब बहरैन के जोशीले युवाओं के सामने से रुकावट को ख़त्म करना है क्योंकि उनके बाद सरकार के खिलाफ आक्रोश में भरे इन युवाओं को कोई नहीं रोक पाएगा।

 

Read 1181 times