भारत, ईरान से तेल आयात जारी रखेगा, अमेरिका से कोई ख़ुफ़िया समझौता नहीं

Rate this item
(0 votes)
भारत, ईरान से तेल आयात जारी रखेगा, अमेरिका से कोई ख़ुफ़िया समझौता नहीं

भारतीय अधिकारियों का कहना है कि भारत पहले की ही तरह ईरान से तेल आयात जारी रखेगा। नई दिल्ली सरकार का अमेरिका से कोई समझौता नहीं हुआ है।

समाचार एजेंसी तसनीम की रिपोर्ट के मुताबिक़,  भारतीय सूत्रों ने बताया है कि ऐसी तमाम ख़बरें झूठी और मनगढ़ंत हैं जिनमें कहा जा रहा है कि भारत और अमेरिका के बीच ऐसा समझौता हुआ है जिसके अनुसार भारत अब ईरान से तेल आयात नहीं करेगा। भारतीय अधिकारियों के मुताबिक़ नई दिल्ली सरकार पहले की भांति ईरान से तेल आयात को जारी रखेगी।

याद रहे कि जून महीने में, अमेरिका की राष्ट्र संघ में प्रतिनिधि निकी हेली, भारत दौरे पर गईं थी, जहां उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करके अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के उस संदेश को पहुंचाया था जिसमें वॉशिंग्टन ने भारत को निर्देश देने का प्रयास किया था कि वह ईरान से तेल के आयात को बंद कर दे। ट्रम्प के इस निर्देश में यह भी कहा गया था कि, भारत चाबहार बंदरगाह का उपयोग जारी रख सकता है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी अधिकारियों ने दुनिया के सभी देशों को यह धमकी दी है कि वे 4 नवंबर तक ईरान से आयात किए जाने वाले तेल को पूरी तरह बंद कर दें और आगर ऐसा नहीं किया तो अमेरिका उनके ख़िलाफ़ आर्थिक प्रतिबंध लगा देगा। इस बीच भारत सहित कुछ अंतर्राष्ट्रीय मीडिया ने दावा किया था कि भारत, जो ईरान से सबसे अधिक तेल आयात करने वाले देशों में से एक है, ईरान से तेल ख़रीदना बंद करने जा रहा है।

भारतीय अर्थशास्त्रियों के मुताबिक़, वर्तमान में  भारत और ईरान के बीच 12 अरब 80 करोड़ डॉलर का व्यापार है, जिसका अधिकतर भाग तेल है। दूसरी ओर भारत से ईरान को निर्यात होने वाली चीज़ें, जिनमें ज़्यादातर खाद्य उत्पादन हैं लगभग 2.4 बिलयन डॉलर की हैं। ऐसा माना जाता है कि भारत, ईरानी तेल के अलावा चाबहार बंदरगाह में भी रूचि रखता है क्योंकि इससे पाकिस्तान के बिना अफ़ग़ानिस्तान सहित दुनिया भर के देशों से भारत को आयात और निर्यात करने में काफ़ी आसानी मिल सकती है।  

 

 

Read 96 times

Add comment


Security code
Refresh